December 3, 2022
Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand 2022

Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand 2022

Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand

जैसा कि दोस्तों आप जानते हैं हम समय-समय पर आप के लिए सरकारी योजनाओं से जुड़ी हुई जानकारी लेकर आते रहते हैं दोस्तों केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा देश में विभिन्न प्रकार की योजनाएं धरातल पर उतारी गई हैं इन योजनाओं से देश के मानव का अत्यधिक विकास संभव हो सका है तथा पर्यावरण / Environment से लेकर मानव जीवन को व्यवस्थित बनाने के लिए इन योजनाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी योजना की जानकारी देने वाले हैं जिसका नाम उत्तराखंड महिला पोषण योजना 2022 है इस योजना के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को उच्च पोषण के खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जाते हैं तथा शिशु के पोषण के लिए भी उचित खाद्य पदार्थों की व्यवस्था की की गई है।

इस योजना के अंतर्गत गर्भावस्था से लेकर शिशु के 6 वर्ष तक बाल विकास योजना के अंतर्गत शिशु तथा शिशु की माता को विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जाते हैं जैसे खजूर दलिया और भुने चने साबुत मसूर पोहा नमक परमल अंडे आदि पोषक खाद्य पदार्थ / Nutritious foods like dates porridge and roasted chickpeas, whole lentils, poha, salt, eggs, etc. उपलब्ध कराए जाते हैं इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड की महिलाओं का तथा उनके शिशु उचित पोषण हो पाया है इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड राज्य के गर्भवती महिला तथा उनके पेट में पल रहे बच्चे को कुपोषण से बचाने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को आरंभ किया है इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार निरंतर कार्य कर रही है उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने इन योजनाओं में संशोधन करते हुए खाद्य पदार्थों की उपलब्धता को बढ़ाया है तथा प्रदेश में आंगनबाड़ी केंद्रों पर खाद्य पदार्थ वितरित किए जाते है यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको आंगनवाड़ी केंद्र जाकर योजना की संपूर्ण जानकारी लेनी होगी।

Food available Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand

खजूर / Date Porridge
दलिया / Porridge
भुना चना / Roasted Chana
साबुत मसूर / Whole Lentil
पोहा / Poha 
नमक/ salt
परमल / Parmal
अंडे / Egg
दूध इत्यादि / Milk Etc.

Purpose of Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand

जैसा कि दोस्तो आप जानते हैं उत्तराखंड सरकार ने गर्भावस्था के समय गर्भवती महिलाओं को अधिक से अधिक सचिता और पौष्टिक आहार की कमी को देखते हुए इस इस योजना को धरातल पर उतारा है जिससे पोषक आहार की पूर्ति हो सके तथा परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण सभी परिवारों को पौष्टिक आहार प्राप्त हो सके तथा नवजात शिशु पोषण प्राप्त हो सके समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने उत्तराखंड में इस योजना को आरंभ किया है इस योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड की गर्भवती महिलाएं तथा 6 वर्ष से कम को उचित पोषण की व्यवस्था करके राज्य में मातृ मृत्यु दर तथा शिशु मृत्यु दर में कमी हो सके तथा उनके रहन-सहन में व्यवस्था हो सके को मुख्य मुख्य रूप से राज्य सरकार ने धरातल पर उतारा है तथा राज्य सरकार गर्भवती महिलाएं तथा शिशु की देखभाल के लिए या उनके इलाज के लिए सभी दवाइयां मुक्त तथा स्वास्थ्य केंद्र में यह सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से व्यवस्थित / All medicines are free for treatment and all these arrangements are arranged smoothly in the health center. की गई हैं सरकारी अस्पताल में शिशु तथा गर्भवती महिलाओं का ध्यान रखने के लिए राज्य सरकार निरंतर कार्य कर रही है।

Benefits of Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand

  • इस योजना का लाभ केवल उत्तराखंड राज्य की गर्भवती महिलाएं तथा 6 वर्ष से कम के शिशुओं को ही दिया जाएगा राज्य की गर्भवती महिलाएं और नवजात शिशुओं को उचित पोषण देने के माध्यम से राज्य सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि उनके बेहतर भविष्य और स्वास्थ्य के लिए अति आवश्यक पौष्टिक खाद्य पदार्थ वितरित किए जाएं।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य की गर्भवती महिला तथा नवजात शिशुओं की साफ सफाई हेतु कीट तथा पोषण के लिए कपड़े तथा खाद्य पदार्थ उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रदान किए जा रहे हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए गर्भवती महिलाओं को तथा उनके 6 वर्ष से कम उम्र के शिशुओं की बेहतर देखभाल की जरूरत है मानकों को देखते हुए गर्भवती महिलाओं को दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली सामग्री अलग-अलग चीजों में तैयार करके प्रदान की जाती है जिससे वह स्वस्थ भोजन ग्रहण कर जीवन की स्थापना कर सकें।

Read More…

conclusion

जैसा कि दोस्तों आप जानते हैं हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से महिला पोषण योजना उत्तराखंड / Mahila Poshan Yojana Uttaraakhand की संपूर्ण जानकारी दे दी है दोस्तों इस योजना का धरातल पर अत्यधिक महत्व रहा है उत्तराखंड के शिशु तथा गर्भवती महिलाओं के विकास एवं पोषण के लिए योजना अत्यधिक महत्वपूर्ण रही है इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य की गर्भवती महिलाओं को तथा उनके 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को उत्तराखंड सरकार के द्वारा उचित खाद्य पदार्थ प्रदान किए जाते हैं जिससे उनका आने वाला कल स्वस्थ रहे स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा इस योजना में संशोधन करते हुए खाद्य पदार्थों की मात्राओं को बढ़ाया गया / Proper food items are provided by the Uttarakhand government, so that their future remains healthy. Keeping in mind the cleanliness, the quantity of food items was increased by the Chief Minister of Uttarakhand state, Shri Pushkar Singh Dhami, by amending this scheme. है तथा पोषण को ध्यान में रखते हुए आंगनवाड़ी केंद्रों पर हर महीने खाद्य पदार्थ वितरित किए जाते हैं योजना के अंतर्गत यदि आपके मन में कोई प्रश्न हो तो आप कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट कर सकते हैं। जय हिंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *